के.एम. भाई के इस टी स्टॉल में मस्त चाय के साथ मिलती है RTI की सॉलिड जानकारी

के.एम. यादव एक आरटीआई कार्यकर्ता हैं जो आरटीआई टी स्टॉल के लिए सबसे प्रसिद्ध हैं और ग्रामीण भारत में आरटीआई को लेकर जागरूकता फ़ैलाने के लिए प्रयासरत हैं। यह बस एक संयोग था कि के.एम. यादव को आरटीआई के बारे में पता चला और उन्होंने इसका प्रयोग अपने इलाके की समस्याओं को सुलझाने के लिए करना शुरू किया। इसके नतीजे इतने उत्साहजनक रहे कि आरटीआई के परिणामों को देने की क्षमता को देखते हुए यादव ने सार्वजनिक जानकारी के क्षेत्र में एक क्रांति शुरू की। अपनी कॉलोनी में पानी के निकास के प्रबंधन को ठीक करने जैसी बड़ी समस्याओं से लेकर एलपीजी गैस की उपलब्धता तक, यादव ने जन कल्याण के लिए आरटीआई का उपयोग पूरी सीमा तक किया है।

"आरटीआई टी स्टॉल" आरटीआई आंदोलन में ग्रामीणों को शामिल करने का के.एम. यादव का तरीका है। यादव अब तक 200 से अधिक आरटीआई दायर कर चुके हैं और लोगों के अधिकारों को उन हाथों में बहाल करने की दिशा में काम कर रहे हैं, जो उनके असल हकदार हैं। आइये देखते के.एम. यादव की कहानी उन्ही के शब्दों में।


Next Story
Share it
Top
To Top